Breaking News

New Facebook tricks 2018 (2018 के ये फेसबुक ट्रिक्स आपके लिए हैं बेहद जरूरी)


नमस्कार दोस्तो आपका एक बार फिर से स्वागत है एक और पोस्ट में और यहा पर आज हम बात करने वाले है फेसबुक के बारे में और उसकी 2018 की ट्रिक्स के बारे में हाल में फेसबुक को लेकर काफी हल्ला मचा है। कुछ दिन पहले ही खबर आई थी कि करीब 5 करोड़ फेसबुक यूजर का डाटा चोरी हो गया है और कंपनी ने इस बात को माना भी। इसके बाद फेसबुक को लेकर यूजर्स में काफी आक्रोस दिखाई दिया। कई लोगों ने तो अपना अकाउंट तक डिलीट कर दिया। हालांकि करोड़ों लोग हैं जो अब भी फेसबुक को छोड़ना नहीं चाहते है यह विश्व का सबसे बड़ा सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है और यहां आसानी से आप अपनी बातें दूसरे तक फैला सकते हैं। परंतु एक चीज कहना जरूरी है कि यदि फेसबुक का उपयोग कर रहे हैं तो सावधान रहना जरूरी है। तकनीक काफी एडवांस हो गया है और आप यदि पुराने तरीके से ही अपने अकाउंट का रख रखाव कर रहे हैं तो समझें की परेशानी को दावत दे रहे हैं। इसलिए जरूरी है कि समय के साथ आप अपने अकाउंट की सुरक्षा का तरीका भी बदलें। आगे हमने वर्ष 2018 के फेसबुक ट्रिक्स बताए हैं जो आपके लिए काफी मददगार हो सकते है ।
1. न करें फेसबुक के साथ लॉगिन

कई ऐप हैं जो ​जीमेल या फेसबुक के साथ लॉगिन होकर खुलते हैं। फेसबुक के साथ लॉगिन होकर खुलना आसान होेता है बजाए लंबा चौड़ा लॉगिन आईडी बनाने के। परंतु आपको बता दूं कि फेसबुक के साथ लॉगिन बिल्कुल भी न करें। फेसबुक से लॉगिन के साथ ही उन्हें आपका फेसबुक डाटा ऐक्सेस मिल जाता है और वे मनमाने तरीके से उसका उपयोग करते हैं। और अगर वो एक trusted एप्पलीकेशन नही है तो खतरा ज्यादा हो सकता है।

2. थर्ड पाटी ऐप को करें रिमूव

फेसबुक के उपयोग के दौरान आपको मालूम भी नहीं होता कि कौन कौन से ऐप आपका फेसबुक डाटा ऐक्सेस कर रहे हैं। कई बार जान कर तो कई बार अनजाने में आप ऐक्सेेस देते हैं। ऐसे में जरूरी है कि उन अनजान ऐप को अपने अकाउंट से रिमूव कर दें जो डाटा चोरी का काम कर रहे हैं।

इसके लिए आपको सबसे पहले ऐप की सेटिंग में जाना है।
यहां बिल्कुल नीचे स्क्रॉल करेंगे तो ऐप्स का आॅप्शन होगा आपको उसी पर क्लिक करना है।
क्लिक करते ही आपके ऐप्स की पूरी लिस्ट आ जाएगी जो आपके फेसबुक डाटा को ऐक्सेस कर रहा है। यहां से आप ऐप को सलेक्ट कर उन्हें डिलीट कर दें।जिससे कि कोई भी एप्पलीकेशन आपका डेटा एक्सेस न कर सके । 


3. टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन

आज फेसबुक को सेफ रखने के लिए सिर्फ पासवर्ड ही काफी नहीं है बल्कि आपको दोहरी सुरक्षा लगानी जरूरी है। इसलिए टू फैक्टर अथॉन्टिकेशन का सहारा लें तो बेहतर है। इसके लिए सबसे पहले आपको
अपने फेसबुक की सेटिग में जाना है।
वहां से सिक्योरिटी एंड लॉगिन का चुनाव करना है।
थोड़ा नीचे स्क्रॉल करेंगे तो सेटिंग अप एक्सट्रा सिक्योरिटी का आॅप्शन मिलेगा।
इसी में नीचे आपको टू फैक्टर अथॉन्टिकेशन दिखाई देगा। आपको उसे सेट करना है।इसके बाद जब भी आप अपने फेसबुक में लॉगिन करेंगे एक अतिरिक्त कोड फोन पर भेजा जाएगा उसी के माध्यम से यह लॉगिन पुरा होगा। यदि यह कोड नहीं डलेगा तो फिर फेसबुक में लॉगिन नहीं हो पाएगा। अकाउंट की सुरक्षा के लिए यह बहुत अी अच्छा है।

4. ऐप्स, वेबसाइट और गेम्स से रहें दूर
फेसबुक में डाटा चोरी सिर्फ पासवर्ड नहीं होता। बल्कि यहां से आपकी निजी जनकारियां भी ली जाती हैं। ऐसे में जरूरी है कि आप पहले से ही संभल जाएं।
फेसबुक की सेटिंग में जाएंगे तो वहां ऐप का एक आॅप्शन मिलेगा।
इसे क्लिक करें इसमें आपको ऐप्स, वेबसाइट और गेम्स का विकल्प मिलेगा उसे क्लिक करें।
यह सेग्मेंट आपके फेसबुक से ऐक्सेस किए गए ऐप, गेम और वेबसाइट को ट्रैक करता है। आप इसे आॅफ कर दें तो ज्यादा बेहतर है।

5. ऐड्स को करें लिमिट
आप अपने ब्राउजर पर कुछ ब्राउजर करते हैं या अपने फेसबुक पर किसी ऐड पर क्लिक कर देते हैं तो उसी के अनुसार आपको फिर ऐड दिखने शुरू हो जाते हैं। ऐसे में आप ऐड्स को भी लिमिट कर सकते हैं। इसके लिए सबसे पहले आपको
अपने फेस​बुक की सेटिंग में जाना है
यहां सबसे नीचे में आपको ऐड का विकल्प मिलेगा उसको क्लिक करें।
यहां आपको योर इन्फॉर्मेशन का विकल्प मिलेगा उस पर क्लिक करना है।
इसके साथ ही कई विकल्प खुल कर आ जाएंगे जैसे आप सभी को आॅफ कर दें।

कोशिश करें कि अपनी निजी सूचना कम से कम कंपनियों तक ही ऐक्सेस होनें दें। इसके नीचे ही ऐड सेटिंग का विकल्प होगा। यहां भी आप सभी सेग्मेंट में नो कर दें तो ज्यादा बेहतर है।
6. लॉग आउट आॅल सेशन
भले ही हाल में फेसबुक की सुरक्षा में सेंध लगा दिया गया हो लेकिन कंपनी ने इसे सुरक्षित रखने के लिए कई फीचर्स पेश किए हैं। इनमें से ही एक है लॉग आउट आॅल सेशन। यदि आपको लगता है कि किसी दूसरे फोन का डिवाइस में आपका फेसबुक लॉगिन है तो आप फेसबुक की सेटिंग से जाकर देख सकते हैं कि किन किन डवाइस में आपका अकाउंट लॉगिन है। यदि थोड़ा सा भी संदेह होता है तो एक क्लिक में आप लॉ​ग आउट कर सकते हैं।
इसके लिए आपको फेसबुक की सेटिंग में जाना है।
यहां आपको सिक्योरिटी एंड लॉगिन का चुनाव करना है।
यहां नीचेम में आपको व्हेयर यू हैव लॉग्ड का आॅप्शन मिलेगा। इसमें पता चल जाएगा कि आपका फेसबुक किस किस डवाइस में लॉगिन है।
यदि आपको जरा सा भी किसी पर शक होता है तो आप यहीं से लॉग आउट आॅल सेशन कर सकते हैं। इससे भी डिवाइस में आपका फेसबुक लॉगआउट हो जाएगा।

7. प्राइवेसी रखें हाइड
कई लोग फेसबुक में अपने निजी जानकारी को पब्लिक कर देते हैं, जबकि यह ठीक नहीं है। कोशिश करें कि जन्मदिन, कॉन्टैक्ट नंबर और पता आदि को हाइड रखें। यह आॅप्शन आपको सेटिंग में ही मिलेंगे।

8. अनॉथराइजलॉगइन एलर्ट करें सेट
आप अपने फेसबुक में अनॉथराइजलॉगइन एलर्ट करें को सेट करें तो ज्यादा बेहतर है। इसके माध्यम से जैसे ही फेसबुक को शक होगा कि आपका अकाउंट को गलत तरीके से लॉगिन किया जा रहा है तो आपको नोटिफिकेशन आ जाएगा। आपको फोन पर या ​ईमेल से सूचना मिल जाएगी।
इसके लिए आपको फेसबुक की सेटिंग में जाना है।
वहां से सिक्योरिटी एवं लॉगिन का चुनाव करना है।
थोड़ा नीचे स्क्रॉल करेंगे तो अनॉथराइजलॉगइन एलर्ट करें का आॅप्शन दिखाई देगा।
यहां समाने ही एडिट का बटन होगा। आपको उस क्लिक करना है। इसके साथ ही आपको नोटिफिकेशन का आॅप्शन आएगा।
यहां से आप सेट कर सकते हैं​ कि मैसेज या मेल में आप नोकिफिकेशन चाहते हैं।

9. पासवर्ड में करें स्पेशल कैरेक्टर को उपयोग
ज्यादातर लोग अपने फेसबुक का पासवर्ड नाम के साथ 123 जैसे शब्द जोड़ लेते हैं। वहीं कई लोग अपने जन्मदिन को रखते हैं। परंतु आपको बता दूं कि ये पासवर्ड आसानी से क्रैक किए जा सकते हैं। इसलिए बड़ा और यूनिक पासवर्ड रखें। याद रहे​ कि हमेशा स्पेशल कैरेक्टर्स का उपयोग करें। जैस @, #, $, % आ​दि। हैकर्स द्वारा इन्हें ​रीड करना मुश्किल हो जाता है।
10. प्राइवेट ब्राउजिंग का लें सहारा
यदि किसी कारणवश दूसरे के पीसी या मोबाइल में आपको अपना फेसबुक अकाउंट खोलना पड़े तो प्राइवेट ब्राउजिंग का सहारा लें। इसमें आपको कोई ट्रैक नहीं कर सकता। क्रोम ब्राउजर में इनकॉग्निटो प्राइवेट ब्राउजिंग है।
तो फिलहाल के लिए इस पोस्ट में इतना है अगर आप एक फेसबुक यूजर है तो आपको 1-2 महीने के बीच पासवर्ड बदलते रहना चाहिए। अगर आपको पोस्ट अच्छी लगी हो तो शेयर करना न भूले ।पोस्ट पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत
धन्यवाद

No comments