Breaking News

Bitcoin क्या है ,कैसे प्रयोग करते है ,(what is bit coin and how to use it )


नमस्कार दोस्तों आपका एक बार फिर से स्वागत हैं एक और नयी पोस्ट में और यहाँ पर हम बात करने वाले है बिटकॉइन के बारे में की आप इसे कैसे खरीद या बेच सकते है  बीसवीं सदी में मानव सभ्यता ने सूचना विस्फोट का सामना किया और परिणामस्वरूप डिजिटल युग की शुरुआत हो गयी। इस युग ने तकनीकी क्रांति को जन्म दिया और हम सब एक आभासी दुनिया में रहने के आदि हो गए। आभासी होने का अर्थ है कि आपको एक चीज के होने का आभास या अहसास तो होगा लेकिन आप उसको Physically न तो छू सकते हैं और न ही देख सकते हैं। इसका सीधा असर हर देश की अर्थव्यवस्था पर हुआ। विकसित देश तेजी से आभासी दुनिया का लाभ लेने लगे और विकासशील देश थोड़ी धीमी चाल से इस युग में प्रवेश करने लगे। भारत में 8 नवम्बर 2016 को  नोटबंदी के बाद से भारत में इस परंपरा ने  तेजी पकड़ी जिससे आज आप सब्जी वाले के हाथ में भी Paytm जैसी भुगतान का टूल देखने लगे। यह Digital Currency का एक रूप है । इसी प्रकार 2009 में एक नयी करेंसी का चलन शुरू हुआ  जिसे bitcoin कहते है। कुछ ही वर्षों में bitcoin विश्व की सबसे मुल्यवान मुद्रा बन गयी हैं| बिटकॉइन की कीमत आज से 6 वर्ष पहले Rs. 6 रूपये थी और आज यह लेख लिखते समय एक bitcoin की कीमत 4,50,000 रूपये से अधिक हैं| आइए बिटकॉइन के बारे में विस्तार जानकारी देते हैं ।

What is Bitcoin (Hindi) – बिटकॉइन क्या हैं 

अलग-अलग देशों की अलग-अलग मुद्राएं होती हैं। जैसे भारत की मुद्रा Rupee और अमेरिका की Doller, उसी प्रकार Bitcoin भी एक प्रकार की Currency है परंतु यह Currency अन्य Currency से थोड़ी अलग  है। Bitcoin एक Digital Currency या Cryptocurrency है जो ओपन-सोर्स सॉफ्टवेयर पर आधारित हैं| इसे हम देख या छू नहीं सकते, इसे केवल डिजिटल मोड यानि कि Digital Wallet में ही रखा जाता हैं। यह मुद्रा केवल computer networking पर आधारित होती है। दूसरे शब्दों में अगर कहें तो bitcoin करेंसी का लेन-देन निर्धारित कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से किया जाता हैं।

इस मुद्रा का उपयोग आप ऑनलाइन ख़रीदारी और अन्य लेनदेन के लिए कर सकते हैं। इस मुद्रा की सबसे विशेष बात यह है Bitcoin एक Open Source Technology या स्वतंत्र मुद्रा और इस पर किसी व्यक्ति,संस्था या देश आदि का नियंत्रण नहीं है यानि इस मुद्रा का कोई मालिक नहीं है। और तो और जिस व्यक्ति ने Bitcoin का अविष्कार किया था, उस व्यक्ति की भी किसी को पूरी तरह से जानकारी नहीं हैं|  यह डिजिटल करेंसी आटोमेटिक तरीके से बिना किसी नियंत्रक संस्था के स्वत: ही कार्य कर रही हैं|

How Bitcoin Works – बिटकॉइन प्रणाली कैसे काम करती हैं

अगर हमें किसी दूसरे व्यक्ति को रूपये भेजने हो तो बैंक के माध्यम से भेजने पड़ेंगे और भारतीय मुद्रा “रूपया” को रिज़र्व बैंक और भारत सरकार नियंत्रित करती हैं| लेकिन bitcoin एक decentralized currency हैं जिसे कोई भी बैंक या सरकार नियंत्रित नहीं करती| Bitcoin Technology एक “Peer to Peer Network” पर आधारित तकनीक हैं जिसके कारण आप बिना किसी Bank या अथॉरिटी के सीधा किसी भी व्यक्ति से लेन देन कर सकते हैं|
जिस तरह एक बैंक अकाउंट होता हैं उसी तरह Bitcoin में लेनदेन करने के लिए डिजिटल bitcoin wallet होता हैं और जिस तरह बैंक अकाउंट नंबर उसी तरह bitcoin का 27 To 24 Alphanumeric Character का Wallet Address होता हैं जिसका उपयोग करके हम किसी भी व्यक्ति को bitcoin भेज या प्राप्त कर सकते हैं| Bitcoin व्यवस्था में सभी तरह के Transaction (लेनदेन), encrypted होते हैं इसलिए यह एक सुरक्षित प्रणाली हैं|

ब्लॉकचैन और माइनिंग – Bitcoin Blockchain and Mining

हम Physical Currency (भौतिक मुद्रा) का इस्तेमाल करते हैं तो हम बैंक के payment process को follow करते हैं, तभी जाकर हम Currency का लेन-देन कर पाते हैं, किस व्यक्ति के account में कितने पैसे कहां भेजे सभी का statment हमारे या जिसको Transaction किया गया है उसके account में available रहता है। उसी तरह Bitcoin के साथ किए गए सभी Transaction का हिसाब एक सार्वजानिक डिजिटल अकाउंट में रिकॉर्ड रहता है जिसे Bitcoin blockchain कहा जाता है। हर तरह का bitcoin Transaction सार्वजनिक Blockchain में रिकॉर्ड होता जाता हैं और इस ब्लाकचैन को अपडेट और सुरक्षित रखने की प्रक्रिया को bitcoin mining कहा जाता हैं| सॉफ्टवेयर फिल्ड के प्रशिक्षित और अनुभवी लोग जिन्हें bitcoin miners कहा जाता हैं वे इस blockchain को अपडेट और सुरक्षित रखते हैं जिनके बदले में उन्हें कुछ बिटकॉइन प्राप्त है | इस तरह  bitcoin technology बिना किसी Controling authority के स्वत: ही कार्य करती हैं| 
विश्व में बनने वाले कुल bitcoin की संख्या पहले से ही निर्धारित हैं और उससे ज्यादा bitcoin नहीं बन पाएंगे| विश्वभर में वर्तमान में जितने भी bitcoin बन चुके हैं उनसे लोग विभिन्न प्रकार के transaction करते हैं और कुछ नए bitcoin बनते जाते हैं जो blockchain को अपडेट और सुरक्षित रखने वाले लोगों (bitcoin miners) को मिलते हैं|

बिटकॉइन की शुरुआत कैसे हुई – Who Invented Bitcoin

बिटकॉइन का अविष्कार सातोषी नकामोतो नाम के एक प्रोग्रामर (सॉफ्टवेयर इंजिनियर) ने 3 जनवरी 2009 को की| हालाँकि किसी को भी आज तक बिटकॉइन के असली आविष्कारक “सतोषी नकामोतो” के बारे में पुख्ता जानकारी नहीं हैं| शुरुआत में बिटकॉइन बनाने का उद्देश्य इसे एक “मुद्रा” के रूप में badalna nahi बदलना नहीं था बल्कि यह साबित करना था कि पैसा का लेन-देन बिना किसी बैंक या थर्ड पार्टी के भी संभव हैं| लेकिन बाद में इसने एक “digital currency” का रूप ले लिया|

बिटकॉइन का उपयोग और महत्त्व – Importance and Use of Bitcoin

बिटकॉइन किसी भी प्रकार के लेनदेन करने का तेज, सुरक्षित और सस्ता तरीका हैं| इसका सबसे ज्यादा उपयोग एक देश से दूसरे देश में पैसे भेजने के लिए किया जाता हैं| सामान्यत: किसी भी देश से दूसरे देश पैसा भेजने में बहुत समय लगता हैं और इसमें बैंक 10% तक फीस चार्ज कर लेते हैं| इसके आलावा अलग-अलग देशों के बहुत सारे नियम-कायदे होते हैं| लेकिन में आप एक सेकंड में विश्व के किसी भी कौने में बैठे व्यक्ति को बिटकॉइन भेज सकते हैं और इसकी फीस भी मामूली हैं| सभी transaction एन्क्रिप्टेड होते हैं इसलिए यह एक सुरक्षित तरीका हैं|
इसके आलावा सभी तरह के अन्य क्षेत्रों जैसे ऑनलाइन शोपिंग में भी इसका उपयोग निरंतर रूप से बढ़ रहा हैं|

बिटकॉइन का मूल्य कैसे बदलता हैं- How Price of Bitcoin Changes

आज bitcoin का उपयोग अलग अलग उद्देश्यों के लिए किया जा रहा हैं और कोई व्यक्ति ऑनलाइन bitcoin खरीद या बेच सकता हैं| अन्य मुद्रा की भांति Bitcoin के मूल्य में भी उतार-चढ़ाव आते रहते है| विश्व में कुल bitcoin की सख्या पहले से निश्चित हैं और इस currency पर किसी भी संस्था का नियंत्रण नहीं हैं इसलिए बिटकॉइन के मूल्य में बहुत अधिक उतार चढाव होते हैं| किसी भी अन्य Market की तरह bitcoin का मार्केट भी डिमांड-सप्लाई पर आधारित हैं और इसी कारण bitcoin के price कम ज्यादा होते रहते हैं| बिटकॉइन के बहुत सारे Exchange बने हुए हैं जहाँ पर bitcoin trade होते हैं|

बिटकॉइन का मूल्य तेजी क्यों बढ़ा–.Why is Bitcoin price rising so fast



बिटकॉइन का उपयोग पहले से कही अधिक बढ़ा हैं| इसके विशेष गुणों के कारण बहुत से लोग बिटकॉइन और अन्य क्रिप्टोकरेंसी को भविष्य की करेंसी मानते हैं, इसलिए इसमें तेजी से Invest कर रहे हैं| इसके आलावा विश्व में कुल bitcoin की संख्या पहले से निश्चित हैं और उससे ज्यादा bitcoin नहीं बन पाएंगे इसलिए भी इसका मूल्य ने बहुत अधिक बढ़ा हैं|

लेकिन इसके साथ साथ इस “currency” को एक बहुत जोखिमपूर्ण मुद्रा माना जाता हैं क्योंकि यह पूरी तरह से internet पर आधारित हैं और इस मुद्रा को कोई संस्था नियंत्रित नहीं करती| इसके आलावा अभी तक ज्यादात्तर देशों की सरकारों ने इस मुद्रा को स्वीकार नहीं किया हैं| इसलिए इसका मूल्य जितना तेजी से बढ़ता हैं उतनी गिर भी सकता हैं|

किसी भी संस्था का नियंत्रण नहीं होने के कारण बहुत से अनुचित कार्यों में भी इस मुद्रा उपयोग होने लगा हैं| अभी हाल ही में WannaCry हैकर्स ने हजारों कंप्यूटर डाटा की फिरोती “bitcoin” में मांगी थी ताकि उन्हें कोई पकड़ न सके|

क्या भारत में बिटकॉइन खरीदना कानूनी रूप से सही हैं – Is it legal to buy Bitcoin in India: 


भारत में अभी Bitcoin Currency को सरकार की मान्यता प्राप्त नहीं हुई है। RBI ने कुछ समय पूर्व bitcoin और अन्य cryptocurrency के सम्बन्ध में आगाह किया था कि यह authorized payment method नहीं हैं और इस सम्बन्ध में कोई apporval नहीं दिया गया हैं| लेकिन RBI ने स्पष्ट रूप से bitcoin या digital currency को बैन भी नहीं किया हैं| बहुत सी कंपनियां bitcoin exchange का व्यवसाय कर रही हैं|

अभी हाल ही में भारत सरकार ने MY-GOV Website पर Virtual Currency पर लोगों की राय पूछी हैं कि क्या Bitcoin जैसे करेंसी को बैन करना चाहिए, ओब्जर्व करना चाहिए या फिर उन्हें रेगुलेट करना चाहिए| इसके आलावा अभी Cryptocurrency Regulations सम्बन्धी News भी थी कि भारत सरकार Cryptocurrency पर कड़े कदम उठा सकता हैं|

भारत में बिटकॉइन कैसे खरीदें – How to Buy Bitcoin in india:

भारत में Bitcoin को Online खरीदने-बेचने के लिए बहुत सी एक्सचेंज कंपनियां हैं जिसमें से Zebpay और Unocoin  प्रमुख हैं। Zebpay ने एंड्राइड और आईफोन एप के जरिये बैंक एकाउंट को लिंक करके तत्काल ट्रान्सफर करने का प्रावधान किया है। आपको सबसे पहले Sign Up करके अपना KYC इनफार्मेशन और डाक्यूमेंट्स जैसे पैन कार्ड आदि वेरीफाई करवाने होते हैं| अकाउंट वेरीफाई होने के बाद आप अपने बैंक अकाउंट से Zebpay के अकाउंट में पैसे ट्रान्सफर कर सकते हैं जो आपको Zebpay के Rupee Wallet में show होंगे| इससे आप Bitcoin खरीद-बेच सकते हैं और अपने पैसे को वापस अपने बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर भी कर सकते हैं| मुझे उम्मीद है की आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी अगर फिर भी आपका कोई सवाल है तो कमेंट करना मत भूले धन्यवाद ....

BITCOIN TODAY PRICE 


1 comment: