Breaking News

नयी लेज़र प्रणाली कर सकती है आपके स्मार्टफोन को रिमोटली चार्ज


नमस्कार दोस्तो आपका एक बार फिर से स्वागत है एक और नई पोस्ट में और आज हम बात करने वाले है लेज़र चार्जिंग के बारे में यू तो हम एक तकनीकी रूप से विकसित युग में रहते हैं जहां कुछ भी संभव है।
किसने सोचा था कि हमारा कार्यभार मशीनें एवं उपकरण ले लेंगे जो हमें मनोरंजन प्रदान करेंगे। पर ऐसा ही हुआ और प्रयोग में आसानी एवं मनोरंजन प्रदान करने की खासियत के साथ तकनीकी ने मनुष्यों को अपने बस में कर लिया है।
अभी समय ऐसा है जहां एक स्मार्टफोन एक मनुष्य का सच्चा दोस्त है।
क्या आपको नहीं लगता कि स्मार्टफोन्स हमारे सच्चे दोस्त हैं?
स्मार्टफोन्स के क्षेत्र में हुआ एक नया आविष्कार काफी बेहतरीन एवं कईयों को चकित करने वाला है!
वैज्ञानिकों ने, जिसमें भारतीय मूल के लोग भी शामिल हैं, एक लेज़र एमिटर का निर्माण किया है जो एक सामान्य यूएसबी केबल की तरह ही एक कमरे में स्मार्टफोन को तेज़ी एवं सुरक्षित रूप से चार्ज कर सकता है।
स्मार्टफोन उपभोक्ताओं की एक आम समस्या को सुलझा लिया गया है। स्मार्टफोन उपभोक्ताओं द्वारा बैटरी चार्ज करने की लम्बी प्रक्रिया को शोधकर्ताओं के एक दल ने चुनौती दी थी।
शोधकर्ताओं ने स्मार्टफोन के पिछले हिस्से में एक पतला पॉवर सेल लगाया, जो लेज़र से ऊर्जा लेकर स्मार्टफोन चार्ज करता है। उन्होंने ख़ास रूप से सुरक्षा फीचर्स का निर्माण किया, जिसमें स्मार्टफोन पर एक धातु की फ्लैट-प्लेट हीटसिंक शामिल है जिसका कार्य लेज़र से अतिरिक्त ताप को कम करना है। इसके अतिरिक्त इसमें एक रिफ्लेक्टर आधारित मैकेनिज्म है जो किसी वुयक्ति के चार्जर बीम के रास्ते में आ जाने की स्थिति में लेज़र बंद कर देता है।
शोधकर्ताओं ने इस लेज़र आधारित चार्जिंग प्रणाली को रैपिड रिस्पांस सुरक्षा मैकेनिज्म के साथ निर्मित एवं परीक्षित किया है, जो यह सुनिश्चित करता है कि लेज़र एमिटर किसी व्यक्ति के लेज़र के पथ में आने से पहले ही चार्जिंग बीम को बंद कर देता है। गार्ड बीम्स को ब्लॉक करने की प्रक्रिया का पता इतनी जल्दी लगाया जा सकता है कि इससे मानव शरीर की सबसे तेज़ गतिविधियों का पता किया जा सके।
यह अगली पीढ़ी का आविष्कार है;नैनो स्केल ऑप्टिकल उपकरणों से गीगाहर्ट्ज़ की गति से कार्य करने की अपेक्षा की जाती है, जो शटर के प्रतिक्रया समय को नैनोसेकंड तक कम कर देती है।
बीम स्मार्टफोन को पावर सेल के माध्यम से चार्ज करती है जो फ़ोन के पीछे लगा होता है। एक पतली बीम 4.3 मीटर या करीब 14 फीट की दूरी से 15 स्क्वायर इंच के क्षेत्र को 2 वाट के पॉवर से चार्ज कर सकता है।
प्रिय ग्राहक, क्या आपको नहीं लगता कि यह हमारे लिए काफी अच्छा है? यह हमारे जीवन को आसान एवं सुविधाजनक बनाता है!

No comments